Varanasiहिंदी

वाराणसी: सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में हिंदू पूजा पर रोक लगाने से किया इनकार

नई दिल्ली: वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद विवाद में एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में, सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को मस्जिद के दक्षिणी तहखाने में हिंदू पूजा पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। यह फैसला ऐसे समय आया है, जब ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में कथित शिवलिंग मिलने के दावे के बाद देश भर में काफी चर्चा चल रही है।

सुप्रीम कोर्ट की पीठ, जिसकी अध्यक्षता मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ ने की, ने न सिर्फ मस्जिद प्रबंधन समिति की रोक लगाने की याचिका खारिज कर दी, बल्कि काशी विश्वनाथ मंदिर के ट्रस्टियों से भी जवाब मांगा। यह कदम इस विवाद में दोनों पक्षों को सुनवाई का अवसर प्रदान करता है।

आदेश में, सुप्रीम कोर्ट ने यह भी स्पष्ट किया कि वाराणसी स्थित ज्ञानवापी परिसर में मुसलमानों द्वारा नमाज पढ़ने की यथास्थिति बनी रहेगी। यह फैसला धार्मिक स्थलों के विवादों के संदर्भ में संवेदनशील है, क्योंकि यह पूजा स्थल के धार्मिक स्वरूप को बनाए रखने और किसी भी पक्ष के अधिकारों का अतिक्रमण न करने का प्रयास करता है।

यह ध्यान देने योग्य है कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने पहले ही फरवरी में निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा था, जिसमें हिंदुओं को मस्जिद के तहखाने में पूजा करने की अनुमति दी गई थी। उच्च न्यायालय ने 1993 के उत्तर प्रदेश सरकार के फैसले को भी “अवैध” बताया था, जिसने मस्जिद परिसर में पूजा गतिविधियों को रोक दिया था।

सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला इस लंबे समय से चल रहे विवाद में अगला कदम माना जा रहा है। अदालत के आदेश पर दोनों पक्षों की प्रतिक्रिया आने के बाद ही भविष्य की दिशा स्पष्ट हो पाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *